International Journal of Advanced Research and Development

International Journal of Advanced Research and Development


International Journal of Advanced Research and Development
International Journal of Advanced Research and Development
Vol. 2, Issue 3 (2017)

राजनीति में नैतिकता एवं अध्यात्मिकता की आवश्यकता एवं प्रासंगिकता


अमित कुमार सिंह

जहाँ तक नैतिकता और आध्यात्मिकता जैसे सार्वभौम मूल्यों का प्रश्न है उन पर विश्व के किसी भी देश में, किसी भी काल में और किसी भी प्रकार के राजनीतिक सामाजिक और शासकीय व्यवस्था में प्रश्न चिह्न न तो भूतकाल में लगाया जा सकता था और न ही वर्तमान और न ही भविष्य में उनकी उपयोगिता पर कभी कोई संदेह किया जा सकता है। संपूर्ण प्राचीन भारतीय जीवन आध्यात्मिकता और नैतिकता जैसे मूल्यों से न्यूनाधिक मात्रा में प्रभावित रहा है। परन्तु राजनीति में नैतिकता और आध्यात्मिकता को अपनाया जाय या समाहित किया जाय यह विद्वानो के लिए एक विचारणीय बिन्दु हो सकता है और यही कारण है कि समय-समय पर विभिन्न देशो के विद्वानो ने उक्त मूल्यों को राजनीति में प्रासंगिकता पर भिन्न-भिन्न परस्पर विरोधी मत व्यक्त किये है।
Pages : 314-316 | 1165 Views | 288 Downloads