International Journal of Advanced Research and Development


ISSN: 2455-4030

Vol. 2, Issue 5 (2017)

भारतीय संविधान और सामाजिक न्याय (एक विश्लेषण)

Author(s): डाॅ0 नरेन्द्र सीमतवाल, अजय कुमार शर्मा
Abstract:
प्रस्तुत शोध का तथ्य है कि असमानता, अन्याय एवं शोषणकारी परम्परागत भारतीय समाज के स्थान पर स्वतंत्रता एवं भाईचारे युक्त समाज की स्थापना का डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर का सपना साकार हो। यह शोध पत्र भारतीय संविधान और सामाजिक न्याय ये उद्देश्यों के मध्य सम्बन्धों का विश्लेषण करेगा। इसमें प्रयास किया गया है कि भारतीय समाज में सामाजिक न्याय की स्थापना हो तथा समाज का कमजोर, पीडित, दलित एवं शोषित वर्ग भी वैधानिक अधिकार प्राप्त कर मानवीय जीवन व्यतीत कर सके। सारांश में सामाजिक न्याय की नई धारणा भले ही नयेपन का एहसास कराने में नया विचार प्रतीत न हो, परन्तु सामान्य नागरिकों में नयेपन का एहसास कराने का सामर्थ रखती है।
Pages: 875-879  |  2429 Views  1143 Downloads
library subscription