International Journal of Advanced Research and Development

International Journal of Advanced Research and Development


International Journal of Advanced Research and Development
International Journal of Advanced Research and Development
Vol. 3, Issue 1 (2018)

मध्यकाल में अमीर वर्ग


ज्योति

मध्यकाल में सल्तनत का शासन रहा हो या मुगलों का दोनों ही साम्राज्यों के उत्थान, पतन, सुचारू रूप से चलाने आदि में अमीरों का बहुत ही महत्वपूर्ण हाथ रहा है। अमीर वर्ग मंत्रीयों से भी उच्च पद प्राप्त थे। सल्तनत काल में सुल्तान के बाद दूसरा पद अमीरों का ही था। ‘अमीर’ नाम सैनिक और असैनिक दोनों प्रकार के अधिकारियों के लिए प्रयुक्त होता था। अमीरों में अफगान, तुर्क, मंगोल जाति के मुसलमान सम्मिलित थे। अमीरों का जीवन भी अत्यधिक विलासिता का जीवन था। ये साधारण जनता पर मनचलते अत्याचार करते थे। ये पहले की तुलना में धनवान ही होते जाते थे। मध्यकाल में अमीरों के व्यवहार, सम्राट तथा जनता पर उनके प्रभाव आदि को इस शोध-पत्र में दिखाने का प्रयास करेंगे।
Download  |  Pages : 868-869
How to cite this article:
ज्योति. मध्यकाल में अमीर वर्ग. International Journal of Advanced Research and Development, Volume 3, Issue 1, 2018, Pages 868-869
International Journal of Advanced Research and Development International Journal of Advanced Research and Development