International Journal of Advanced Research and Development

International Journal of Advanced Research and Development


International Journal of Advanced Research and Development
International Journal of Advanced Research and Development
Vol. 3, Issue 1 (2018)

मध्यकालीन भारतीय इतिहास में निम्न वर्ग


सुरेन्द्र

मध्यकाल में शासक वर्ग सबसे महत्वपूर्ण वर्ग था, जिसके हाथ में सम्पूर्ण शासन की बागडोर थी। जनसाधारण का जीवनयापन कठिनाई से होता था जबकि अमीर वर्ग पहले की तुलना में धनवान ही होते जाते थे। निम्न वर्ग या जनसाधारण एक तरह से शासक वर्ग की सेवा के लिए था। कस्बों और नगरों में रहने वाले निम्न श्रेणी के लोगों तथा कृषकों की ऐसी ही स्थिति भी जैसे आधुनिक समय में है। ये लोग आज के मजदूरों की तरह झोपड़ियों में रहते थे और सारे दिन परिश्रम करते थे। मध्यकाल में निम्न वर्ग या जनसाधारण के जीवनयापन, उनके मनोरंजन, सामाजिक स्थिति आदि को इस शोध-पत्र में दिखाने का प्रयास करेंगे।
Download  |  Pages : 380-382
How to cite this article:
सुरेन्द्र. मध्यकालीन भारतीय इतिहास में निम्न वर्ग. International Journal of Advanced Research and Development, Volume 3, Issue 1, 2018, Pages 380-382
International Journal of Advanced Research and Development International Journal of Advanced Research and Development